नाज़ुक कली

 

IMG_3394

when good people suffer in order to maintain peace for such people Buddha said the one who suffers most will enjoy the greatest benefit too.

एक आम कली
संस्कारो  के बीजो से फली
बड़ी नाज़ो से पली,
जब घर से चली,
तो बड़ी लागी उसे ये दुनिया भली।
इस सोच के साथ वो जब आगे बड़ी
समझ पाई हर मोड़ पर है मुसीबत खड़ी
अपनी मुसीबतों से जो डट के लड़ी
सोचा टल जाएगी ये भी जल्द ही घड़ी।
हर मोड़ पर फिर वो बच के चली
उसकी इमानदारी से ही उसकी हर मुसीबत टली।

Prerna Mehrotra
28/10/2014

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s