चिड़िया

 

sample design

Sometimes the situation becomes so uncontrollable that you cannot even think of doing anything to get rid of it.In such situations just face the situation bravely and leave everything on great law of cause and effect.One day or the other you will definitely get justice.

ये चिड़िया भी अब तैरना सीख रही हैं।
तेज़ हवाओं के साथ जैसे ये भी अब शीतल
जल के संग बह रहीं हैं।
अपने घुटन का एहसास
जैसे ये कबसे कह रही हैं।
फिर भी नजाने क्यों ?
ये उसी जल में रह रही हैं।
उड़ना तो ये अब भी चाहती हैं
पर क्या ये जल हीं अब इसका जीवन साथी हैं?
इसे इस जल से आज़ाद करो प्रभु
घुट रहा हैं अब तो इसके होने का भी वजूत
क्यों ऐसे कर रहे हो आप, इसे ऐसे मजबूर ?
इसमें क्या है इस परिंदे का कसूर ?
वह तो उड़ते उड़ते यहाँ आ गया
मुसीबतों का पहाड़ फिर उसके सर पे क्यों छा गया ?
बहुत लेली उसकी परीक्षा- अब तो उसे उड़ने दो
खुश कर उसे- अब आप, उसकी राह में,
उसे मुड़ने दो और उसे अब खुल के उड़ने दो।

Prerna Mehrotra
28/11/2014

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s