अगर मैं


Please analyse where we stand!!! Its my humble request please don’t find mistake in others first take your responsibility and bring human revolution in your own life….

अगर मैं अच्छी होती,
तो कोई मुझे बुरा ना लगता।

अगर मैं सच्ची होती,
तो कोई मुझे झूठा ना लगता।

अगर मैं शांत होती,
तो किसी का क्रोध मुझे घायल ना करता।

अगर मैं सच्ची भक्त होती,
तो हर जीव में मुझे ईश्वर का स्वरुप दिखता।

अगर मैं अमीर होती,
तो मुझे कोई गरीब नहीं दिखता।

अगर मैं ग्यानी होती,
तो अज्ञानी को भी मैं मान देती।

अगर मैं सुन्दर होती,
तो किसीके चेहरे पर कभी ना मरती।

Prerna Mehrotra


8 thoughts on “अगर मैं

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s