गाँव की रंगीन दुनियाँ ???

423959_10150573141887950_28681919_n

A Salute to a farmers & their family……

ऐसी प्रकृति की ताज़गी,
अब शहरों में खोगई।
देख इन हसींन वादियों को,
ये कवियत्री  भी ख़ुशी से रो गई।
जहाँ देखू वहाँ बीते कल की दास्ताँ,
सुनाई पड़ती हैं।
सुन उन यादों की कहानी,
ये कवियत्री आगे बढ़ती हैं।
कही मटका दिखा,
तो दिखीं, कही खेतों में हरियाली ।
सुख कर काटा बन चुका था,
वो खेतों का माली।
आसान नहीं ये जीवन,
बस दूर से ऐसा लगता हैं।
कर इतनी मेहनत,
किसान को क्या मिलता हैं???

 

Prerna Mehrotra Gupta
28/5/2017

Advertisements

अंदर से संवारो ख़ुदको

unnamed

your outer appearance will never define your beauty because it is the heart that is important.The one whose intentions are beautiful is actually beautiful & they are the one who peacefully enjoys their life with dignity and making their environment feel proud.In short, the key to success is to become beautiful from within.” A beautiful heart can earn the trust of millions.

गहरी बन, ज़िन्दगी की गहराई में उतरती हूँ।
अपने को कर बस ठीक,
अब हर रोज़ मैं संवरती हूँ।
इस गहराई का सच,
सच्चे लोग ही समझ पायेंगे।
संवार के यू खुद को आज,
आने वाले कल में वही ज़िन्दगी का लुफ्त उठायेंगे।

 

Prerna Mehrotra Gupta
28/5/2017

चित्र की कहानी मेरी ज़ुबानी

unnamed

yesterday I went to my relative place there I saw this painting its appears to me as if peahens trying to console peakcock and making him realize the importance of her in his life.

यू मुख मोड़,
क्यों बात तुम नही मुझसे करते हो.
खड़ी हूँ जब मैं तुम्हारे सामने,
फिर क्यों इस दुनियां से डरते हो??
अकेली मैं ही सब पर भारी पड़ जाऊँगी।
अपनी संगति में तुझको रखकर,
मैं तुझे भी काबिल बनाऊँगी।
मेरी इन भावनाओं का रंग देख कितना गहरा हैं।
किसी को देख कर भी अब ना देखू,
क्यूंकि दिल में तो बस तुम्हारा ही चेहरा हैं।

 

Prerna Mehrotra Gupta
27/5/2017

अपनी ही गलतियों से सीखो

405473_330588396983476_448066107_n

Mistakes will help you in becoming the perfectionist.

गलतियों में छुपी पूर्णता को देखो,
खुदसे हार,यू खाली बैठ, धूप ना सेको।
आज की गलतियां ही, कल तुझे पूर्ण कर देगी,
तेरे ही उदाहरण से, फिर ये दुनियाँ सबक लेगी।
विश्वास कर अपने विश्वास पर,
खुदपर विश्वास कभी ना खोना।
नज़र अंदाज़ कर मेरी इन बातों को,
अकेले में फिर, तू कही, ना रोना।

 

Prerna Mehrotra Gupta
27/5/2017

बीता कल, आज और आने वाला कल

unnamed (1)
The Past has gone, future is always uncertain- try to give best in present.
अगले पल का पता नही,
और कलकी चिंता करते हो।
अपने आज को बदलते नहीं,
बीते कल की निंदा करते हो.
बस आज को देखो ,
तो सब कुछ बदल जायेगा।
जो कल तक था फ़कीर,
वो कल राजा भी बन जायेगा।

Prerna Mehrotra Gupta
26/5/2017

पृथ्वी की हर एक चीज़ को मैंने अपना माना

IMG_5712
A fight between air & the fragrance of soil. They both need my attention when rain happen.
खुदसे सोचा खुदसे जाना,
पृथ्वी की हर एक चीज़ को मैंने अपना माना।
ठंडी हवा का झोका,
जब कुछ मुझसे कहकर जाता हैं।
मिट्टी की सौंधी खुशबू का मन,
ये देख,भर आता हैं।
कैसे हवाये मुझे खुदमे उलझा देती हैं।
मिट्टी की वो खुशबू ना जाने क्यों ??
उसी वक़्त अंगड़ाई लेती हैं।
उस खुशबू को कर महसूस,
फिर उसे मनाना पड़ता हैं।
उसके प्रति मेरे प्यार को देख,
फिर हवाओं का पारा चढ़ता हैं।
दोनों को कर एक,
फिर उनके रस में डूब जाती हूँ।
अपनी भावनाओं के ज़रिये,
मैं ऐसे प्रकृति को मनाती  हूँ।
Prerna Mehrotra Gupta
26/5/2017

बधाई हो

Wishing you a very happy 51st wedding Anniversary….

तमन्ना है, हर जन्म के जीवन का,
हर पड़ाव आप साथ में बिताये।
अपनों के संग रहकर,
यूही हमेशा प्यार लुटाये।
अपनों से जुड़ा ये गठ बंधन
आपका जन्मों जन्मांतर तक जायें।
देख इस प्यारीसी जोड़ी को,
ब्रहमा विष्णु भी मुस्कुराये।

Prerna Mehrotra Gupta
26/5/2017

IMG_3230

अपने मात पिता का आंगन छोड़,
जब मैं इस अंगना में आई।
उनकी वो छवि मैंने अपने,
सास ससुर में पाई।
उनके प्यार की छवि,
इस बहू को इस कदर भायी।
अपने पीहर की यादों के संग,
मैंने यहाँ भी अपनी कई यादें बनाई।
विचारों में भिन्नता होते हुए भी,
मैं इनपे जान लुटाती हूँ।
सबको एक सूत्र में बांध रखने का,
विश्वास मन में जगाती हूँ।

Rakhi Garg