ज़िन्दगी की हर पहेली को वक़्त-वक़्त पर सुलझाते चलो….

sample design

Time is very stubborn it will never forgive anyone so try to develop the skill of truth and honesty on time.

Prerna Mehrotra Gupta
21/8/2018

Advertisements

लक्ष्य को हर हाल में पाना है।

sample design

In your tough time roar like a lion king and master your mind rather your mind master by just totally focus on enhancing your potential rather begrudging or comparing your life with others. Always remember this principle in life that the law of cause and effect is very strict you will never face the consequences of other causes. Your Time is something which no one can steal from you so try to make the best use of it. “Relay on Law, not on the person.

Prerna Mehrotra Gupta
19/8/2018

अग्नि में तपके सोना है और भी निखरता।

sample design

This world is designed in such a manner that people often find the mistake in others work instead of concentrating on their own if you encounters such people then take the words of those people positively and just focus on polishing your own potentials.No matter what just be your own True Friend and forgive others.

Prerna Mehrotra Gupta
16/8/2018

कही ना कही

603127_496477013727946_206353186_n

क्यों बिन वजह पहले,
अरमान जगाते हो?
उदास होकर- फिर,
खुद का ही दिल, तुम दुखाते हो।
हमारे ही किये कर्मो का परिणाम,
कही ना कही हमे ही,पता होता है पहले।
इस बात को समझ- और,
पहले ही खुदसे ये तू कहले।
मिलेगी सफलता तो अच्छा हैं,
ना मिले तो समझ
अभी भी तू एक छोटा बच्चा हैं।
अब उगली पकड़,
तुझे राह कोई दिखायेगा।
जो रह गया तू पीछे,
आने वाले कल में,
उससे और भी बेहतर तू बन जायेगा। .

Prerna Mehrotra
12/4/2017

मंज़िल है एक

Life-After-Death-576x300

Image source-http://checkonline4you.com/wp-content/uploads/Life-After-Death-576×300.jpg

रास्ते है कई,
मंज़िल है एक.
पा तो लोगों उसे तुम
बस हर हाल में रखो, अपने ख्यालों को नेक।

Prerna Mehrotra
16/7/2015

खुशियों की चाबी तुम्हारे पास है

tumblr_mbpk61HxPi1qahbnvo1_500

Image Source: http://25.media.tumblr.com/tumblr_mbpk61HxPi1qahbnvo1_500.jpg

क्यों अपनी खुशियों का गला ,
पहले तुम अपने ही हाथो से दबाते हो?
फिर क्यों तुम ही बिन वजह के इलज़ाम
अपनी किस्मत पर लगाते हो?
ये तुम्हारी किस्मत तुमने खुद ने बनाई है.
क्यों यही एक बात तुम्हे अब तक समझ नही आई है?
दो पल निकाल के खुद के लिए अच्छा तो बोल,
गलत सोच की आड़ में तू ऐसे ना डोल .
क्योंकि ज़िंदगी की हर राह में छुपा है एक होल.
एक बार गिरा तो संभल नही पायेगा,
उस दल- दल में फस ,तू बस रोयेगा चिलायेगा।

Prerna Mehrotra
5/3/2015