ना केवल नारी अच्छी, ना ही केवल नर अच्छा।

sample design

Regardless of genders, I think “Honesty is the best policy”.

Prerna Mehrotra Gupta
28/4/2017

Advertisements

लक्ष्य

 

IMG_1724

Being an economics and finance student I choose to become a poetess because I believe in me

कई मंज़िल को छोड़
हमने चुनी बस एक राह
जो थी हमारे मन की वो एक इकलौती चाह
उस चाह को पाने मे
हमने दिन रात ना देखा
धीरे धीरे बनने लगी हमारे हाथ में
फिर उस लक्ष्य की रेखा।
ये रेखा हमने खुदने बनाई
ये कोई जानता नहीं।
जो दिखे लोग कहे बस वहीं हैं सही।
एक बार तू अपनी किस्मत को आज़मा के तो देख
खाली बैठ बस तू यू बड़ी बड़ी ना फेक।
जो सोचेगा वही पायेगा
इस भागती ज़िंदगी में
अपनी सोच के बल पे हीं तू
वीर या कायर कहलायेगा।

Prerna Mehrotra
29/10/2014