इस पृथ्वी में करी सबसे अनोखी रचना हैं बेटियाँ

selected 1

Daughters- “pure souls” try to never hurt them…..

एक नहीं दो घरों की लाज होती है बेटियाँ,
दबाके अपने अरमानों को खिलखिलातीं है बेटियाँ,
रोशन कर दूसरे का आँगन, मुस्कुराती है बेटियाँ,
कोख में पनाह दे अपनी संतान को इस दुनियाँ में लाती है बेटियाँ,
अपनों के मुख से भी खुद को पराया सुन, सबका साथ देती है बेटियाँ,
अपने दुखो को भूल, अपनों को दुखी देख रो देती है बेटियाँ,
बेज़ुबान कर खुदको, ना जाने कितना कुछ सहती है बेटियाँ,
अपने प्यार के स्पर्श से, सबका मन मोह लेती है बेटियाँ,
एक नहीं दो-दो माता पिता का सुख पाती है बेटियाँ,
एक घर में पनप के, दूसरे घर में बस जाती है बेटियाँ,
जीवन के कठिन से कठिन परिवर्तन को अकेले ही सह जाती है बेटियाँ,
किसी की ख्वाहिश को पूरा कर, अपने को भूल जाती है बेटियाँ,
सुलझाके जीवन की हर पहेली , आगे बढ़ जाती हैं बेटियाँ,
इस पृथ्वी में करी सबसे अनोखी रचना हैं बेटियाँ।

 

Prerna Mehrotra Gupta
24/5/2017

Advertisements