क्यों ज़रूरी है अच्छाई को अपनाना ??

  1. unnamed

Truth always win, try to practice what you preach.One day or the other everybody will die so why cant we create value in society till the time we here.

मरता तो हर हाल में है इंसान,
तो सही दिशा में बढ़ना क्यों ज़रूरी है।
हर इंसान के अंदर ही छुपी,
ये कैसी उसकी मज़बूरी है ??
क्योंकि शरीर और  वजूद दोनों ही मिट जायेगा।
तेरे करे कर्मो का साया ही तो,
बस यहाँ रह जायेगा।
अपनी मृत्यु से,
न तो ज्ञानी और न ही अज्ञानी बच पायेगा।
अच्छा आहार और अच्छी सोच से,
अपने जीवन को अच्छा बनाओ
गलत विचारों के रहते,
खुदके जीवन से बड़ी-बड़ी उम्मीद न लगाओ।
जैसा बनना चाहते हो,
वैसे जीके दिखाना होगा।
अपनी कही बातो पर,
पहले तुम्हें भी चलके दिखाना होगा।
तुम्हारी सफलता के पीछे होगा,
सिर्फ और सिर्फ तुम्हारे कर्मो का हाथ।
वरना कौन मानेगा तुम्हारी कही कोई भी बात.

Prerna Mehrotra Gupta
21/6/2017

भावनायें कवयित्री की…..

unnamed

Poetess can understand the pain of every aspects of life and she has a power to depict the same in her poetries.

हवाओं में छुपे ज्ञान को कवयित्री,
अपनी कविताओं में, बंद कर देती हैं।
करके रात दिन इन घटाओं से बातें,
वो किसीसे कुछ नही लेती हैं।
अपने भावों को बताने में,
ना जाने कितनी परीक्षा, वो जीवन की देती हैं।
हर एक पल, उसे ज़िन्दगी कुछ सिखाती हैं।
अपनी कविताओं के ज़रिये,
वो दूसरों को भी जगाती हैं।
कोई सीखें उससे,
तो कोई उसकी मज़ाक उड़ाता हैं।
जीवन के हर रंग रूप को देख,
उसे फिर भी मज़ा आता हैं।

Prerna Mehrotra Gupta
25/5/2017

TRUST

Trust is a beautiful feeling of rely, but once it is broken, it will take years to come in to its original form. So do not break the trust of our elders, friends or anyone because we are human being, “the creature of divine “from whom God expect a lot.

  • T-tremendous
  • R-reliable
  • U– Unconditional
  • S-Sincerity
  • T-trust

Therefore, if you break the trust of trust then trust will not trust you…